• 0,99 €

Beschreibung des Verlags

‘खुदसेप्रेमकरो’—अपनीआँखोंमेंगहराईसेदेखनाऔरएफर्मेशंस(दृढ़वचन)दोहराना—स्वयंसेप्रेमकरनासीखनेऔरदुनियाकोएकसुरक्षितएवंप्रेमकरनेवालेस्थानकेरूपमेंदेखनेकेलिएसबसेप्रभावीतरीकाहै।प्रसिद्धसेल्फ-हेल्फलेखिकालुइसएल.हेलोगोंकोमिररवर्क(खुदसेप्रेमकरो)करनातबसेसिखारहीहैं;जबसेवेएफर्मेशंससिखारहीहैं।सीधेशदोंमें;जोकुछभीहमकहतेयासोचतेहैं;वहएकएफर्मेशनहै।आपकीस्वयंसेकीगईसभीबातें;आपकेमनमेंचलरहेविचारएफर्मेशंसकीएकधाराहैं।येएफर्मेशंसआपकेअवचेतनकेलिएसंदेशहैं;जोसोचऔरव्यवहारकेअभ्यस्ततरीकेस्थापितकरतेहैं।सकारात्मकएफर्मेशंसआपकेअंदरउपचारात्मकविचारऔरसोचकारोपणकरतेहैं;जोआत्मविश्वासऔरआत्मसम्मानविकसितकरनेमेंतथामानसिकशांतिऔरआंतरिकखुशीउत्पन्नकरनेमेंआपकासहयोगकरतेहैं।

इसपुस्तकके21सूत्रआपकोसिखाएँगे—स्वयंसेप्रेमकरना;अपनीसेल्फ-टॉक(स्वयंसेबातचीत)कीनिगरानीकरना;अपनेअतीतसेमुतहोना;अपनेआत्मसम्मानकानिर्माणकरना;अपनेअंदरकेआलोचककोबाहरनिकालना;अपनेशरीरकोप्रेमकरना;अपनादर्ददूरकरना;अपनेडरपरकाबूपाना;अपनेसंबंधोंकोस्वस्थकरना;तनावमुतरहना।

अपनेआत्मविश्वासऔरजिजीविषाकोजगानेकेलिएएकआवश्यकपठनीयपुस्तक।

GENRE
Belletristik und Literatur
ERSCHIENEN
2020
11. November
SPRACHE
HI
Hindi
UMFANG
140
Seiten
VERLAG
Prabhat Prakashan Pvt Ltd
GRÖSSE
884
 kB

Mehr Bücher von Louise L. Hay