बारहवीं रा‪त‬

    • 3,49 €
    • 3,49 €

Publisher Description

बारहवीं रात एक सुखान्त नाटक है। इसका लेखन-काल अन्तस्साक्ष्य और बहिस्साक्ष्य की परीक्षा के उपरान्त 1601 ई. माना जाता है। इस नाटक में दो कथाएँ हैं—एक प्रेम की कथा, दूसरी है हास्य कथा। प्रथम का स्त्रोत इन ग्रन्थों से माना जाता है-एपोलोनियस और सिल्ला; ग्लि’ इन्गन्नति तथा इन्गन्नि। बैण्डेलो के उपन्यासों के संग्रह में इसका प्रारम्भिक रूप माना जाता है। बैण्डेलो की इतालवी भाषा की रचना से यह कुछ परिवर्तन के साथ बैलेफोरेस्ट द्वारा फ्रेंच में उतर आई। किन्तु इसकी हास्य कथा शेक्सपियर की अपनी ही है। वह मौलिक है। इन हास्य पात्रों का सृजन कवि की अपनी प्रतिभा का परिणाम है। -रांगेय राघव

GENRE
Arts & Entertainment
RELEASED
2014
3 March
LANGUAGE
HI
Hindi
LENGTH
112
Pages
PUBLISHER
Bhartiya Sahitya Inc.
SIZE
549.5
KB

More Books by विलियम शेक्सपियर, William Shakespeare & रांगेय राघव

2014
2014
2014
2014
2014
2014